Monday, December 14, 2009

कनाड़ा से प्रकाशित हिंदी चेतना का अक्टूबर .09 अंक अवश्य पढ़िए (इंटरनेट पर उपलब्ध है।)

पत्रिका-हिंदी चेतना, अंक-अक्टूबर.09, स्वरूप-त्रैमासिक, प्रमुख संपादक-श्याम त्रिपाठी, सह संपादक- डाॅ.सुधा ओम ढीगरा, डाॅ. निर्मला आदेश, पृष्ठ-64, मूल्य-अमूल्य, सम्पर्क- 6 Larksmere Court, Markham, Onterio, L3R 3R1, Phone (905) 475 7165 , ईमेलः hindichetna@yahoo.ca , वेबसाइटः http://hindi-chetna.blogspot.com/ , http://vibhom.com/
हिंदी साहित्य के लिए समर्पित कनाड़ा से प्रकाशित इस पत्रिका ने अनेक महत्वपूर्ण अंक दिए हैं। समीक्षित अंक भी अपने पूर्व के अंकों के समान पठनीयता से भरपूर है। प्रकाशित कहानियों में संस्कार शेष(कृष्ण बिहारी), माई बाप(देवी नागरानी) तथा बलराम अग्रवाल एवं प्रेम नारायण गुप्त की लघुकथाएं प्रभावशाली हैं। अक्टूबर.09 अंक में प्रकाशित कविताएं विश्व मानवता तथा शांति का संदेश देती हैं। किरन सिंह, जगदीश चंद्र शारदा, संदीप त्यागी, तेजेन्द्र शर्मा, यशपाल लाम्बा, भगवत शरण श्रीवास्तव, शशि पाधा, शाहनाज़ अब्बास, नीना पाल, कृष्ण कुमार, नरेन्द्र ग्रोवर, महेश नंदा, ब्रजेश श्रीवास्तव एवं डाॅ. सुधा ओम ढीगरा की कविताएं हमारे सुनहरे अतीत को साथ लेकर चलती हुई उज्ज्वल भविष्य की आशा बंधाती है। आत्माराम शर्मा का आलेख ‘हिंदी ब्लाग इन दिनों’ इंटरनेट पर हिंदी की मजबूत होती स्थिति से अवगत कराता है। अमित कुमार सिंह की ‘आपबीती’ पढ़कर हिंदी चेतना के प्रत्येक पाठक को अपनी आपबीती सी महसूस होती है। इन्द्र (धीर) बडेरा का प्रज्ञा परिशोधन विश्व को भारतीय संस्कार एवं संस्कृति से अवगत कराता है। पत्रिका के संुदर संयोजन-आकल्पन एवं कलेवर के लिए संपादक श्री श्याम त्रिपाठी व उनके सहयोगी डाॅ. सुधा ओम ढीगरा, डाॅ. निर्मला आदेश सहित अन्य बधाई के पात्र हैं।

1 comment:

  1. Abhaar is jaankari ke liye.
    Aap ki sameeksha achchee hai.

    Web site ke link dene ke liye dhnywaad.

    ReplyDelete