Saturday, June 25, 2011

पत्रिका हिमप्रस्थ का अप्रैल अंक

पत्रिका: हिमप्रस्थ, अंक: अप्रैल2011, स्वरूप: मासिक, संपादक: रणजीत सिंह राणा, पृष्ठ: 64, मूल्य: 6 रू.(वार्षिक 50 रू.), मेल: , ,वेबसाईट: उपलब्ध नहीं, फोन/मोबाईल: उपलब्ध नहीं, सम्पर्क: हिमाचल प्रदेश प्रिटिंग पे्रस परिसर, घोड़ा चैकी शिमला 5
कम कीमत में उच्च कोटि का साहित्य उपलब्ध कराने वाली यह पत्रिका अपने आप में अनूठी है। इसका प्रत्येक अंक विशिष्ट सामग्रीयुक्त होता है। इस अंक में भी ख्यात साहित्यकारों निर्मल वर्मा, माखनलाल चतुर्वेदी , केदारनाथ अग्रवाल पर एकाग्र सामग्री का प्रकाशन किया गया है। हेमराज कौशिक, रामसिंह यादव, विनादे चंद्र पाण्डेय, राजेन्द्र परदेसी, रमाकांत, देशराज सिरसवाल तथा केशव चंद्र के लेख व निबंध साहित्यजगत के लिए विशेष उपलब्धि कही जा सकती है। डाॅ. सुरेश उजाला का ख्यात विद्वान डाॅ. भीमराव अम्बेड़कर पर एकाग्र लेख पत्रिका की विशेष रूप से उल्लेखनीय रचना है। पदम गुप्त व डाॅ. आदर्श की कहानी तथा पुष्पेश कुमार गुप्त तथा प्रसून गुलेरी की लघुकथाएं अच्छी व प्रभावशाली है। अरूण कुमार शर्मा, प्रो. आदित्य, कुंवर दिनेश, पूजा ठाकुर, प्रोमिला भारद्वाज, प्रदीप शर्मा, यादवेन्द्र शर्मा तथा कृष्णा ठाकुर की कविताएं समसामयिक तथा विषय वस्तु के स्तर पर विशिष्ठ कही जा सकती है। पत्रिका की अन्य रचनाएं, समीक्षाएं तथा पठनीय सामग्री प्रत्येक पाठक के ज्ञानवर्धन में सहायक है।

No comments:

Post a Comment