Tuesday, November 9, 2010

गांधी साहित्य एवं विचार की पत्रिका-‘हिंदुस्तानी जबान’

पत्रिका: हिंदुस्तानी जबान, अंक: अक्टूबर-दिसम्बर2010, स्वरूप: त्रैमासिक, संपादक: सुशीला गुप्ता, पृष्ठ: 120, मूल्य:10रू. (वार्षिक 40रू.), ई मेल: hp.sabha@hotmail.com , वेबसाईट: उपलब्ध नहीं, फोन/मो. (022)22812871, सम्पर्क: महात्मा गांधी मेमोरियल रिसर्च सेंटर, महा. गां. बिल्डिंग, 7 नेताजी सुभाष रोड़ मुम्बई 400002
गांधी साहित्य एवं विचार के प्रचार प्रसार मंे वर्षो से लगी पत्रिका के समीक्षित अंक में अच्छी व पढ़ने योग्य रचनाओं को स्थान दिया गया है। पत्रिका का साहित्य गांधी जी के विचारों को आज के संदर्भ में भी प्रस्तुत करता है। प्रकाशित प्रमुख आलेखों में गांधी जी की सकारात्मक सोच(डाॅ. सुरेन्द्र वर्मा), गांधी जी के अहिंसा सिद्धांत की प्रासंगिकता(डाॅ. सत्यपाल श्रीवत्स), वैश्विक बदलावः स्त्री और कथा साहित्य(उर्मिला शिरीष), हिंदी कहानियों में बाल मजदूरी(सूर्या बोस), आधुनिक हिंदी ग़ज़ल का शिल्प(श्री विजय अरूण), भाषा को नहीं काव्य को बचाओ(जसप्रीत कौर जस्सी) एवं लोक साहित्य में स्वाधीनता की अनुगंूज(आकांक्षा यादव) प्रमुख हैं। पत्रिका की अन्य रचनाएं, समीक्षाएं व समाचार भी उपयोगी हैं।

2 comments:

  1. It's good to know that 'Hindustaani Zabaan' is doing so good for hindi literature.

    'Hasrat' Narelvi.

    ReplyDelete