Sunday, July 25, 2010

साहित्य सागर का समाजसेवी स्वराज ग्रोवर पर एकाग्र अंक

पत्रिका: साहित्य सागर, अंक: जुलाई 10, स्वरूप: मासिक, संपादकः कमलकांत सक्सेना, पृष्ठ: 52, मूल्य:20रू.(.वार्षिक 2250रू.), ई मेल: kksaxenasahitasagar@rediffmail.com , वेबसाईट/ब्लाॅग: उपलब्ध नहीं, फोन/मो. 0755.4260116, सम्पर्क: 161बी, शिक्षक कांग्रेस नगर, बाग मुगलिया, भोपाल म.प्र.
साहित्य सागर का समीक्षित अंक होशंगाबाद की ख्यात समाज सेवी श्रीमती स्वराज ग्रोवर पर एकाग्र है। अंक में उनके व्यक्तित्व पर उल्लेखनीय सामग्री का प्रकाशन किया गया है। अंक में डाॅ. ब्रहमजीत गौतम, साज जबलपुरी, श्याम बिहारी सक्सेना, डाॅ. गार्गीशंकर मिश्र मराल व कमलकांत सक्सेना के आलेख प्रभावित करते हैं। स्वराज ग्रोवर पर एकाग्र आलेखों से उनके व्यक्तित्व के विभिन्न रूपों के दर्शन होते हैं। उन के समग्र पर लिखे गए आलेखों में प्रमुख रूप से पं. गिरिमोहन गुरू, प्रो. नीलम खरे, सी.के. दीक्षित, डाॅ.शरद नारायण खरे, डाॅ. लता अग्रवाल एवं अन्य प्रसिद्ध लोगों के उनके संबंध में विचार उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डालने में पूर्णतः सफल रहे हैं। पत्रिका की अन्य रचनाएं, स्थायी स्तंभ, समीक्षाएं व समाचार भी पिछले अंकों की तरह पठनीय बन पड़े हैं।

No comments:

Post a Comment