Friday, December 11, 2009

साहित्य की कथा में एक बिंब-‘कथा बिंब’

पत्रिका-कथाबिंब, अंक-जुलाई-सितम्बर.09, स्वरूप-त्रैमासिक, संपादक-मुजूश्री, पृष्ठ-52, मूल्य-15रू. (वार्षिक 50रू.), सम्पर्क-ए-10, बसेरा आॅफ दिन क्वारी रोड़, देवनार मुम्बई 400088, फोनः(022)25515541, ईमेलः kathabimb@yahoo.com, website http://www.kathabimb.com/
पत्रिका कथासाहित्य के लिए समर्पित है लेकिन अन्य विधाओं को भी समुचित स्थान दिया जाता है। इस अंक में पांच कहानियां प्रकाशित की गई हैं जिनमें से एक्सीडेंट(विजय शंकर विकुज), मुखबिर(प्रमोद भार्गव) एवं लघुकथाओं में दहेज(डाॅ. भारती), महंगाई(पंकज शर्मा) हर दृष्टि से उल्लेखनीय हैं तथा साहित्य में कुछ न कुछ नया जोड़ती है। कविताओं-ग़ज़लों तथा गीतों में - कृपाशंकर शर्मा ‘अचूक’, लक्ष्मीकांत पाण्डेय, मधु प्रसाद तथा रामशंकर चंचल विशेष रूप से प्रभावित करते हैं। इन कविताओं रचनाओं में नवीनता के साथ साथ समय की मांग व उसका आग्रह दिखाई देता है। पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ, रचनाएं, समीक्षाएं व परिशिष्ट इसे पठ्नीय व संपे्रषणीय बनाते हैं।

1 comment:

  1. अखिलेश जी,
    आपका यह प्रयास बहुत ही सराहनीय है।कम से कम नेट पर लिखने पढ़ने वाले रचनाकारों को प्रिण्ट पर चल रही हलचल एवम गतिविधियों का पता लगता रहेगा।शुभकामनायें।
    हेमन्त कुमार

    ReplyDelete