Sunday, November 22, 2009

विश्व में हिंदी प्रचार प्रसार के लिए प्रतिब्द्ध-‘विश्व हिंदी समाचार’

पत्रिका-विश्व हिंदी समाचार, अंक-सितम्बर.09, स्वरूप-त्रैमासिक, प्रधान संपादक-डाॅ. विनोद बाला अरूण, संपादक-डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद मिश्र, पृष्ठ-12, मूल्य-अनमोल, सम्पर्क- World hindi Secretariat, Swift Lane, Forest side, Mauritius,
Ph. (230)6761196,
ईमेलः whsmauritius@intnet.mu , sgwhs@intnet.mu / dsgwhs@intnet.mu
माॅरिशस से प्रकाशित विश्व हिंदी समाचार अकेली ऐसी पत्रिका है जो विश्व भर के हिंदी प्रेमियों के समाचार एक दूसरे तक पंहुचाती है। मुखपृष्ठ पर हिंदी विद्वानों के सचिवालय आगमन की जानकारी को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है। प्रो. मोहन के गौतम, डाॅ. सुचिता रामदीन, श्री विभूतिनारायण राय, श्री ब्रजेन्द्र त्रिपाठी, श्री अरूणेश नीरन, प्रो. सदानंद शाही एवं डाॅ. विनोद कुमार मिश्र सहित अनेक विद्वानों ने सचिवालय में पधारक र अनुग्रहित किया। हिंदी साहित्य के ख्यात व विश्वप्रसिद्ध विद्वान फाॅदर कामिल बुल्के की जन्मशताब्दी पर पत्रिका ने महत्वपूर्ण आलेख(हिंदी चेतना से साभार) प्रकाशित किया है। पत्रिका की प्रधान संपादक श्रीमती विनोद बाला अरूण ने अपने संपादकीय आलेख में हिंदी के विद्वानों साहित्यकारों को याद किया है। सपादक डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद मिश्र ने हिंदी दिवस(14 सितम्बर) को विश्व हिंदी दिवस की संज्ञा दी है। उन्होंने 10 जनवरी(विश्व हिंदी दिवस) एवं 14 सितम्बर के महत्व को पाठकों के समक्ष प्रस्तुत किया है। पत्रिका के पृष्ठ 6 पर राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कारों के समाचार के साथ साथ वरिष्ठ कथाकार मृदुला गर्ग को स्पंदन कथा शिखर सम्मान का समाचार भी प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है। ‘ये मेरे कामकाजी शब्द’ तथा ‘प्रवास में पहली कहानी’ के विमोचन का समाचार इन संग्रहों का अध्ययन करने के लिए प्रेरित करता है। कनाड़ा से प्रकाशित पत्रिका ‘हिंदी चेतना’ समीक्षा पत्रिका के प्रति जिज्ञासा जाग्रत करती है। भारत के प्रमुख साहित्यिक पत्रिकाओं के समीक्षाब्लाॅग ‘कथा चक्र’ पर प्रकाशित विश्व हिंदी समाचार’ की जानकारी को इस पत्रिका ने बहुत ही सुंदर ढंग से प्रकाशित किया है। खाड़ी के देशों में हिंदी(पूर्णिमा वर्मन) आलेख हिंदी की वैश्विक उपादेयता-अनिवार्यता पर प्रकाश डालता है। दक्षिण अफ्रीका में हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए कार्यरत संस्था ‘हिंदी शिक्षा संघ’ की गतिविधियों की जानकारी प्रो. उषा शुक्ला के माध्यम से पत्रिका ने प्रकाशित की है। अंतिम पृृष्ठ पर प्रकाशित समाचार ‘अमेरिका मंे हिंदी कवि सम्मेलन’ वहां हिंदी की दिन प्रतिदिन बढ़ती लोकप्रियता की जानकारी देता है।

1 comment:

  1. hindi ka prachar prasaar ttha jankari dene ke liye dhanyawaad

    ReplyDelete