Tuesday, July 31, 2012

साहित्य में अहल्या


पत्रिका: अहल्या,  अंक: मई 2012, स्वरूप: मासिक, संपादक: आशादेवी सोमाणी,  आवरण/रेखाचित्र: भारत की विदेश सचिव निरूपमा राव, , पृष्ठ: 64, मूल्य: 20 रू.(वार्षिक 240 रू.), ई मेल: ,वेबसाईट: उपलब्ध नहीं , फोन/मोबाईल: 040.24804000, सम्पर्क: 14.4.498/ए, ज्ञानबाग रोड़, प्रकाश रोड़ लाईंस के सामने, पान मण्डी के पास हैदराबाद आंध्रप्रदेश
साहित्य के साथ साथ विविधतापूर्ण सामग्री से युक्त पत्रिका के इस अंक में नवीनतम रचनाओं का समावेश किया गया है। अंक में मालती शर्मा, ओमप्रकाश बजाज, विश्वमोहन तिवारी, गजानन पाण्डेय व चंद्रमोलेश्वर प्रसाद की रचनाओं का प्रकाशन किया गया है। सीताराम गुप्ता, हेमवती शर्मा, प्रो. श्यामलाल कौशल,  कृष्ण कुमार यादव, किशोरीलाल व्यास, विद्याभास्कार वाजपेयी, किरण राजपुरोहित व रीता सिंह की रचनाएं साहित्येत्तर होते हुए भी सरसता से भरपूर हैं। राजेन्द्र परदेसी जी की कहानी दुष्चक्र, ताऊ शेखावटी(ममता), रोहित यादव(लघुकथाएं) तथा अरूण नैथानी का भारतीय विदेश सचिव पर एकाग्र आलेख प्रभावित करता है। श्यामलाल उपाध्याय, रामनिवास मानव, सजीवन मयंक, ओम रायजाद, बी.एल. अग्रवाल, शिवचरण सेन, नरेश हामिलपुरकर, टी. मोहनसिंह एवं माता प्रसाद शुक्ल की कविताओं में नयापन है। पत्रिका की अन्य रचनाएं, समीक्षाएं तथा आलेख भी प्रभावित करते हैं। 

1 comment:

  1. धन्यवाद..!
    श्रावणी पर्व और रक्षाबन्धन की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete