Saturday, January 2, 2010

उड़ि जा रे हंस भैया का देस.....(शुभ तारिका)

पत्रिका-शुभ तारिका, अंक-दिसम्बर.09, स्वरूप-मासिक, संपादक-श्रीमती उर्मि कृष्ण, पृष्ठ-98, मूल्य-25रू.(वार्षिक 120रू.), फोनः(0171)2610483, सम्पर्क-कृष्णदीप, ए.47, शास्त्री कालोनी अम्बाला छावनी 133001 हरियाणा email: urmi.klm@gmail.com
पत्रिका का समीक्षित अंक म.प्र. के साहित्य पर एकाग्र विशेषांक है। अंक में मध्यप्रदेश की साहित्यिक, सांस्कृतिक व कला धरोहर पर विशेष सामग्री का प्रकाशन किया गया है। प्रकाशित लेखकों में प्रमुख हैं - स्वाति तिवारी, डाॅ. महाराज कृष्ण जैन, शिव अनुराग पटेरिया, उर्मि कृष्ण, महेश श्रीवास्तव, मदनमोहन जोशी तथा अजातशत्रु प्रमुख हैं। ये सभी रचनाकार मध्यप्रदेश से हैं जिन्होंने विभिन्न विषयों पर गंभीरतापूर्वक लेखन कार्य किया है। मंगला रामचंद्र, डाॅ. रामसिंह यादव तथा दिनेश चंद्र दुबे की कहानियां इस दशक के विषयों तथा उसकी समस्याओं पर विस्तार से प्रकाश डालती हैं। प्रकाश पुरोहित का व्यंग्य किताब का कार्यक्रम उर्फ क्रियाकर्म अच्छा व्यंग्य है। अन्य रचनाओं में कुत्तों से सावधान(मालती जोशी) एवं लूट सके तो लूट(कांतिलाल ठाकरे) अच्छी पठनीय रचनाएं हैं। कविताओं में विशेष रूप से ऋषिवंश, देवेन्द्र कुमार जैन, आनंद बिल्थरे, नंदलाल भारती, अखिलेश शुक्ल, नर्मदा मालवीय तथा ओम रायजादा की कविताएं अपने अपने विषयों के साथ न्याय कर सकीं हैं। लघुकथाकारों में प्रभात दुबे, पुष्पारानी गर्ग, शहनाज सुलतान एवं अरूण कुमार जैन ने अच्छा विषय निस्पादन किया है। पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ व रचनाएं भी अपना महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। एक अच्छे विशेषांक के लिए पत्रिका की टीम बधाई की पात्र है।

4 comments:

  1. kushal sampadan , thos samagri, sunder kalevar...
    Badhai....

    ReplyDelete
  2. Bahut Accha Sampadan, Cover page really Good..
    stories all catchy and must read..

    ReplyDelete
  3. Badhai,
    shubh tarika hamesha ki tarah bahut acchi lagi..

    ReplyDelete