Tuesday, April 14, 2009

यात्रा में मच्छर न काटे तो?-------सदंर्भ यात्रा कथा

लल्लू लाल जी को यात्रा करना है। इस ग्रीष्म में यात्रा और वह भी भारतीय रेल में? कभी नहीं? पर करना है तो करना है। अतः कुछ भी हो जाए टिकिट कटाकर ट्रेन में बैठना है और अपनी यात्रा पर निकल पड़ना है। पहला कदम है टिकिट बुकिंग का लेकिन यह क्या? सभी टिकिट बुक हो चुके हैं? तत्काल बुकिंग का भी समय नहीं तब यात्रा के लिए क्या किया जाए। पैदल भारत भ्रमण संभव ही नहीं। फिर क्या किया जाए क्यों न कु छ समय बाद यात्रा शुरू की जाए तब तक के लिए आप भी अपनी तैयारी कर लीजिए अन्यथा कहना पड़ेगा? यात्रा... भारतीय रेल में? कभी नहीं।Jaipur_Hotels
Jaipur_Hotels

remaining part : after tea break

1 comment:

  1. टी ब्रेक या डे ब्रेक? अगली कड़ी के इंतज़ार में.

    ReplyDelete