Monday, March 25, 2013

हिंदी व साहित्य की प्रतिषिठत पत्रिका हिंदुस्तानी जबान

पत्रिका.हिंदुस्तानी जबानए अंंक.दिसम्बर12ए स्वरूप.त्रैमासिक संपादक.माधुरी छेड़ा पृष्ठ.64ए रेखांकनग्राफिक्स .जानकारी उपलब्ध नहींए मूल्य. 20 रूण् ;वार्षिक 80 रूण्द्धए वेवसाइट . फोन रू 22812871 इमेल.  संपर्क  महात्मा गांधी मेमोरियल  रिसर्च सेंटरए महात्मा गांधी बिलिंडगए 7ए नेताजी सुभाष रोड़ए मुम्बर्इ 400002
    गांधी साहित्य की इस प्रतिषिठत पत्रिका की ख्याति देश विदेश में है। पत्रिका का प्रत्येक अंक विशेषांक के समान होता है। समीक्षित अंक में उषा ठक्कर का आलेख गांधीवादी विचारधारा पर एक अच्छा विमर्श है। आलेखों में आशुतोष पाठकए उषा मिश्राए रामसागर सिंह एवं रवीन्द्र अगिनहोत्री के आलेख नवीनता लिए हुए हैं। ख्यात आलोचक विजयबहादुर सिंहए कवि राजकुमार कुम्भजए रवीन्द्र कात्यायन तथा देवमणि पाण्डेय की कविताएं गांधीवादी विचारधारा को वर्तमान संदर्भ में प्रस्तुत करती है। कमल तेजस की कहानी टेक्सीवाला तथा उर्मिला शिरीष व धीरा वर्मा के विमर्श प्रभावित करते हैं। सुमित्रा अग्रवाल तथा नवांकुर नुजहत फातमा में संभावनाएं दिखार्इ देती है। पत्रिका का उदर्ू खण्ड भी समसामयिक व विचारोत्तेजक रचनाओं से युक्त है।

1 comment:

  1. holi ki hardik shubhkamnaye , ummid hai sab kushal mangal hoga , acchi jaanakri,aapne abhi tak hamen jaankari abhi tak di .

    ReplyDelete