Sunday, October 28, 2012

आज की ही नहीं समकाल की भी ‘‘समकालीन अभिव्यक्ति’’

पत्रिका-समकालीन अभिव्यक्ति, अंक-अक्टूबर 2012, स्वरूप-त्रैमासिक, संपादक-उपेन्द्र कुमार मिश्र, पृष्ठ-52, रेखंाकन/ग्राफिक्स - ,  मूल्य-15रू.,(वार्षिक 60रू.), वेवसाइट - ,  फोन: 26645001, ईमेल- , संपर्क: 5, तृतीय तल, 984 वार्ड नं. 7, महरौली, नई दिल्ली
    साहित्य के लिए गंभीर रूप से चितिंत एवं कार्यरत पत्रिका के इस अंक में अनेक रचनाएं वर्तमान समय और समाज को प्रतिबिंबित करती है। अंक में अमिताभ शंकर राय चैधरी, प्रभात दुबे तथा मनीष कुमार सिंह की कहानियांे का समाज समकालीन समाज है जिसके बारे में गंभीरतापूर्वक विचार करने का समय आने पर भी विचार नहीं हो रहा है। आलेखों में कृष्ण कुमार यादव, डी. सत्यलता, सीताराम गुप्ता एवं सुमन वर्मा के विविध आलेख ज्ञानार्जन करते हैं। पत्रिका का प्रमुख आकर्षण ख्यात कथाकार साहित्यकार डाॅ. रामदरश मिश्र से साक्षात्कार है। अनिल डबराल ने धरोहर के अंतर्गत रोचक ढंग से अपनी बात रखी है। कृष्ण मोहन, आचार्य भगबत दुबे, रामनाथ शिवेन्द्र, महाश्वेता चतुर्वेदी, जी.पी. दुबे, नवल जायसवाल, सुभाष रस्तोगी की कविताएं प्रभावित करती है। सरोज गुप्ता एवं जिनेन्द्र जैन की लघुकथाएं भी समसामयिक हैं। पत्रिका की समीक्षाएं, अन्य रचनाएं भी प्रभावित करती है।

4 comments:

  1. जानकारी के लि‍ए आभार

    ReplyDelete
  2. पंडित नरेन्द्र शर्मा ' सम्पूर्ण रचनावली ' तैयार है। कृपया अधिक जानकारी के लिए देखें :
    परितोष नरेंद्र शर्मा
    Mobile Phones
    +91 96 19 191370
    Facebook http://facebook.com/paritosh.n.sharma
    टेलीफोन : दूरभाष : 226050138
    ई मेल : panditnarendrasharma@gmail.com

    प्रेषक : - लावण्या दीपक शाह

    ReplyDelete