Sunday, October 14, 2012

कर्नाटक से हिंदी में ‘‘भाषा स्पंदन’’


पत्रिका-भाषा स्पंदन, अंक-28, वर्ष -2012, स्वरूप-त्रैमासिक, संपादक- मंगल प्रसाद, पृष्ठ-64, मूल्य-25रू.,(वार्षिक 100) , ई-मेल: karnatakahindiacademy@yahoo.com, फोन: 080.25710355, संपर्क: 853, 8वां क्रास, 8वां ब्लाक, कोरमंगला, बेंगलूर कर्नाटक
    कर्नाटक से प्रकाशित हिंदी की अहम पत्रिका भाषा स्पंदन का समीक्षित अंक विविधतापूर्ण रचनाओं से युक्त है। अंक का संपादकीय हिंदी भाषा के भविष्य व उसके विकास में अनावश्यक सलाह देने वाले लोगों से सचेत करता है। प्रकाशित आलेखों में हिंदी के प्रति उदासीनता(परमानंद पांचाल), हिंदीः कल आज और कल(एस.के. तिवारी), बदलते दौर के साहित्य के सरोकार(कृष्ण कुमार यादव), भारतीय नारी पूर्व अवधारणा एवं नई परिभाषा(दीपिका जैन) एवं आज की शिक्षा प्रणाली और गांधी जी के विचार(श्रीमती तारा सिंह) शोध छात्रों के साथ साथ आम हिंदी पाठकों के लिए भी समान रूप से उपयोगी हैं। सुषम मुनीद्र तथा रघुनंदन प्रसाद तिवारी की कहानियां आम जीवन की कहानियां है। विश्वनाथ, रमेश चंद शर्मा चंद्र, दरवेश भारती, कमलसिंह चैहान, सुरेश उजाला, घनश्याम अग्रवाल, ज्ञानेन्द्र साज, बी.पी. दुबे, मधुर गंजमुरादाबादी, यायावर, मोहन तिवारी, आर.सी. शर्मा, प्रकाश गौड एवं महाश्वेता चतुर्वेदी की कविताएं, ग़ज़लें प्रभावित करती है। पत्रिका की अन्य रचनाएं, समीक्षाएं तथा लेख आदि भी विशिष्ठ हैं।

1 comment:

  1. पंडित नरेन्द्र शर्मा ' सम्पूर्ण रचनावली ' तैयार है। कृपया अधिक जानकारी के लिए देखें :
    परितोष नरेंद्र शर्मा
    Mobile Phones
    +91 96 19 191370
    Facebook http://facebook.com/paritosh.n.sharma
    टेलीफोन : दूरभाष : 226050138
    ई मेल : panditnarendrasharma@gmail.com

    प्रेषक : - लावण्या दीपक शाह

    ReplyDelete