Sunday, September 23, 2012

माॅरिशस से प्रकाशित ‘‘विश्व हिंदी समाचार’’ पत्रिका का विश्व हिंदी दिवस विशेषांक


पत्रिका: विश्व हिंदी समाचार, अंकः 17 मार्च 2012, स्वरूप: त्रौमासिक, संपादक: श्रीमती पूनम जुनेजा, गंगाधर सिंह सुखलाल, मूल्य: प्रकाशित नहीं, ई मेल: whsmauritius@intnet.mu, sgwhs@intnet.mu, whsmauritius@gmail.com  , वेवसाइट: , फोन: 230.6761196, सम्पर्क: स्विफ्ट लेन, फाॅरेस्ट साइट, माॅरिशस 
                                    माॅरिशस से प्रकाशित समाचार प्रधान पत्रिका का यह अंक विविधतापूर्ण जानकारी से युक्त है। अंक में मुखपृष्ठ पर भारत के प्रधानमंत्राी मनमोहन सिंह का संदेश प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है। माॅरिशस में 10 जनवरी 2012 को आयोजित होने वाले समारोह का विस्तृत विवरण प्रकाशित किया गया है। समाचार में स्पष्ट किया गया है कि माॅरिशस में हिंदी का प्रचार प्रसार तथा उपयोग वहां के आमजन से जुड़ा हुआ है। इसे लोगों से अलग करना संभव नहीं है। पत्रिका ने विश्व भर में हिंदी दिवस के आयोजन का समाचार अन्य पृष्ठों पर प्रकाशित किया है। इसके अंतर्गत भारत, कुवैत, पुर्तगाल, जापान, इज़राइल, पोर्ट आॅफ स्पेन, गुयाना, दोहा, भूटान, श्रीलंका एवं अमरीका में आयोजित होने वाले हिंदी दिवस समारोह की जानकारी प्रभावित करती है। 11 फरवरी 2012 को महात्मा गांधी संस्थान के सुब्रमण्यम भारती सभागार में विश्व हिंदी ससचिवालय ने अपने आधिकारिक कार्यारंभ की चतुर्थ वर्षगांठ मनाई, पत्रिका की प्रधान संपादक श्रीमती पूनम जुनेजा ने अतिथियों का स्वागत किया। ख्यात साहित्यकार व लेखक श्री विभूतिनारायण राव जी का स्वागत करते हुए कहा कि विभूति नारायण राव ने वर्तमान साहित्य पत्रिका का संपादन  करने के साथ साथ साहित्य जगत के लिए जो कार्य किए हैं वे अनंतकाल तक याद किए जाएंगे। कार्यक्रम का संचालन श्री गंगाधर सिंह सुखलाल ने किया। 
जापान के तोकियो विश्वविद्यालय के विभाग फाॅरेन स्टडीज में भी द्वितीय अंतर्राष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन  के आयोजन की रिपोर्ट हिंदी के वैश्विक स्वरूप व उसके उपयोग की विस्तृत जानकारी प्रदान करती है। स्पेन में15 से 17 मार्च2012 तक आयोजित यूरोपीय हिंदी संगोष्ठी में विदेशी भाषा के रूप में हिंदी शिक्षणः परिदृश्य विषय पर परिचर्चा का समाचार योरोप में हिंदी के विकास की सकारात्मक प्रस्तुति है। इसके अतिरिक्त अंतर्राष्ट्रीय हिंदी उत्सव के अकादमिक सत्रों का शुभारंभ, भोपाल में धर्मवीर भारती फैलोशिप शुरू, नांदेड (भारत) में लेखक सम्मेलन, ख्यात सिने तारिका रानी मुखर्जी द्वारा अरब के पहले हिंदी रेडियो स्टेशन का शुभारंभ, दिल्ली के प्रगति मैदान में पुस्तक मेला सम्पन्न, डाॅ. पांचाल का दक्खिनी हिंदी पर व्याख्यान सहित अन्य समाचार पत्रिका की अन्य विशेषता है। पत्रिका की प्रधान संपादक श्रीमती पूनम जुनेजा का सह कथन समसामयिक है, ‘‘हिंदी शिक्षण के फैलाव को बढ़ाने के साथ साथ उसका आधुनिकीकरण करना होगा  जिससे कि नई युवा पीढ़ी भी इसकी ओर आकर्षित हो।’’ पत्रिका का कलेवर, साज सज्जा तथा रचनात्मकता उच्च कोटि की है।  

1 comment:

  1. Ham kaise bhi sahi, par 'photogenik' to hain. Videshi aainon men hamaari Hindi khoobsoorat nazar aati hai.

    ReplyDelete