Monday, July 30, 2012

साहित्य में समावर्तन


पत्रिका: समावर्तन,  अंक: जुलाई 2012, स्वरूप: मासिक, संपादक: रमेश दवे, पृष्ठ: 96, मूल्य: 25रू (वार्षिक 250 रू.), ई मेल: ,वेबसाईट: उपलब्ध नहीं, फोन/मोबाईल: 0734ण्2524457, सम्पर्क: 129, माधवी दशहरा मैदान, उज्जैन म.प्र.
पत्रिका का समीक्षित अंक आंशिक रूप से ख्यात कथाकार व साहित्यकार अमरकांत पर एकाग्र है। अंक में उनके व्यक्तिव पर प्रकाशित रचनाओं में रमेश दवे, रामकली सर्राफ के आलेख व अनिता गोपेश द्वारा उनसे लिया गया साक्षात्कार विशेष रूप से प्रभावित करता है। सरोकार के अंतर्गत ख्यात रंगकर्मी सत्यमोहन पर प्रकाशित आलेखों में मनोहर वर्मा, जितेन्द्र हेनरी, छविनाथ तिवारी तथा नरेन्द्र दुबे से उनकी बातचीत विशेष रूप से उल्लेखनीय है। अंक की अन्य रचनाओं मेें प्रज्ञा रावत की कविताएं, प्रतापसिंह सोढी व वाणी दवे की लघुकथाएं, कला जोशी की कहानी बाबू एवं त्रिलोक महावर, पुरूषोत्तम दुबे, अर्चना जोशी की कविताआंे में नवीनता है। पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ, रचनाएं व समाचार आदि भी विशिष्ठ हैं। 

No comments:

Post a Comment