Sunday, October 23, 2011

साहित्यकारों की सम्पर्क पत्रिका ‘‘आसपास’’ का नया अंक

पत्रिका: आसपास, अंक: अक्टूबर 2011, स्वरूप: मासिक, संपादक: राजुरकर राज, पृष्ठ: 32, मूल्य: 5रू(वार्षिक: 50 रू.), ई मेल: shabdashilpi@yahoo.com ,वेबसाईट: http://www.dharohar.com/ , फोन/मोबाईल: 07552776129, सम्पर्क: एच 3, उद्धवदास मेहता परिसर, नेहरू नगर, भोपाल म.प्र.

रचनाकर्मियों की संवाद पत्रिका का समीक्षित अंक जानकारीपरक समाचारों से युक्त है। अंक में ख्यात ग़ज़ल गो शहरयार को ज्ञानपीठ पुरस्कार का समाचार प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है। मध्यप्रदेश की राजधनी भोपाल में शुरू हो रहे हिंदी विश्वविद्यालय में तकनीकि शिक्षा की पढ़ाई का समाचार हिंदी के साथ साथ तकनीक से जुडे़ पाठकों के लिए उपयोगी है। उच्च न्यायालय के हिंदी में पारित प्रस्ताव तथा भारतीय भाषा दिवस के रूप में मनाया जाए हिंदी दिवस का समाचार पत्रिका के अन्य आकर्षण हैं। इंटरनेट पर हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार, देवेद्र दीपक व भारद्वाज को दीनदयाल उपाध्याय सम्मान एवं मध्यप्रदेश लेखक संघ द्वारा देश के 16 साहित्यकारों के सम्मान से संबंधित समाचार शब्दधर्मियों के मध्य संवाद स्थापित करने में पूर्णतः सक्षम है। रीयूनियन द्वीप फ्रांस में पहली बार हिंदी दिवस व नेशनल बुक ट्रस्ट के नए निदेशक का समाचार भी साहित्यजगत के लिए उपयोगी है। पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ, समाचार, पत्र आदि भी उपयोगी व जानकारी परक हैं।

2 comments:

  1. aaspaas ke baare men jaankar bahut achha laga .. aapko dil se shukriyaa

    ReplyDelete
  2. आपको दीवाली की ढेरों शुभकामनायें।

    ReplyDelete