Tuesday, May 10, 2011

साहित्य की ‘अभिलाषा’

पत्रिका: अभिलाषा, अंक: 27, वर्ष 2011, स्वरूप: त्रैमासिक, प्रधान संपादक: के.सी. शर्मा , पृष्ठ: 66, मूल्य: उपलब्ध नहीं, ई मेल: , वेबसाईट: उपलब्ध नहीं, फोन/मो. 011.23094219, सम्पर्क/प्रकाशक: कार्यालय महानिदेशक, लेखा परीक्षा एवं रक्षा सेवाएं, नई दिल्ली (भारत)

पत्रिका अभिलाषा साहित्यिकता से भरपूर उच्च कोटि की पत्रिका है। इसमें प्रकाशित रचनाआंे का स्तर किसी अन्य हिंदी की पत्रिका से कम नहीं है। अंक में विभिन्न अधिकारियों की सम्मति तथा आशीर्वाद के साथ साथ पत्रिका के संबंध में उनके अमूल्य विचारों को भी स्थान दिया गया है। पत्रिका में प्रकाशित कविताओं में मनमीत कौर, पूजा शर्मा, किरनजीत कौर, राजेन्द्र सिंह, के.सी. शर्मा, नसीम पठान, सूरज प्रकाश वधवा, निकेता मलिक, हर्ष कुमार, उषा बवेजा, निशा शर्मा, ललित शर्मा, पूनम मुंजाल, आर.पी. सिंह, राहुल गौर की कविताओं की भाषा सरल व भाव विशिष्ठ हैं। इनमें आम पाठकों के लिए कुछ न कुछ अवश्य है। प्रकाशित लेखों में के.सी. शर्मा, नमन शर्मा, एस.बी. नवीन, के.एन. सिंह, अधीश, निशा शर्मा, मुकेश, नीरू कालरा, अमन शर्मा, आरती रस्तोगी, रमेश कुमार, के.पी. सिंह एवं भारती प्रवीण के विशिष्ठ हैं। वृंदा मल्होत्रा, एस.जी. गोस्वामी, जय गुप्ता, चंद्रकला तथा राजेश कुमार के विविध विषयों पर लिखे गए आलेखों में नवीनता तथा ताजगी है। एल.पी. शर्मा, जी.पी. यादव, विश्वजीत चंदा ने साहित्य से अलग हटकर पाठकों की पढ़ने में रूचि जाग्रत करने का कुशल प्रयास किया है। पत्रिका का राजभाषा हिंदी की काम काज मेंउपयोगिता पर प्रकाश डालता है।

No comments:

Post a Comment