Monday, November 22, 2010

बस अब और कुछ नहीं-‘केवल सच’

पत्रिका: केवल सच, अंक: नवम्बर 2010, स्वरूप: मासिक, सम्पादक: ब्रजेश मिश्र, पृष्ठ: 62, मूल्य:25रू.(वार्षिक 250रू.), ई मेल: , वेबसाईट: http://www.kewalsach.com/ , फोन/मो. उपलब्ध नहीं, सम्पर्क: पूर्वी अशोक नगर, रोड़ नं. 14, कंकड़बाग, पटना 800020 बिहार
पत्रिका केवल सच बिहार की राजधानी पटना से विगत पांच वर्ष से लगातार प्रकाशित हो रही है। समीक्षित अंक पत्रिका का संपादकीय संग्रह अंक है। पत्रिका नेे विगत पांच वर्ष में जो भी संपादकीय प्रकाशित किए हैं उन्हें पुनः प्रकाशित किया गया है। इनमें से प्रमुख है- बस एक और आंदोलन, हावी होती पश्चिमी सभ्यता, क्या हम आजाद हैं?, कौन है अपना और पराया, राजनीतिक उल्लू, झूठ बोल कौवा काटे, राम बड़े या रावण, न्यायालय और बढ़ता अपराध, दिल है कि मानता नहीं, अब और नहीं, जागते रहो जैसे उच्च कोटि के विचार योग्य संपादकीय का पुनः प्रकाशन पत्रिका का स्वर व उसकी दिशा की जानकारी देता है।

No comments:

Post a Comment