Friday, August 27, 2010

‘हम सब साथ साथ’ हैं और आप?

पत्रिका: हम सब साथ साथ, अंक: 06, स्वरूप: द्विमासिक, संपादक: शशि श्रीवास्तव, पृष्ठ: 34, मूल्य:15रू.(.वार्षिक 120रू.), ई मेल: , वेबसाईट/ब्लाॅग: उपलब्ध नहीं , फोन/मो. 01124568464, सम्पर्क: 916, बाबा फरीदपुरी, पश्चिमी पटेल नगर, नई दिल्ली 110.008
बाल पत्रिका हम सब साथ साथ का यह अंक बच्चों के विकास की रचनाओं के साथ प्रकाशित किया गया है। अंक में विनोद बब्बर, मधु शर्मा की रचनाएं व ज्योति गजभिये, प्रो. शामलाल कौशल, अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, आरती वर्मा, मदनमोहन श्रीवास्तव के विचार विचार विमर्श के तहत प्रकाशित किए गए हैं। कृष्ण कुमार यादव व राजकुमार तिवारी सुमित्र पर आलेख उपयोगी व जानकारीपरक हैं। हरकीरत हरकीर, माला वर्मा, प्रतीक्षा दुबे, सुभाष राय, सुरेन्द्र दत्त सेमल्टी, पूनम अरोड़ा, सुमन सिंह, इंदिरा शबनम व किशोर श्रीवास्तव की रचनाओं में बच्चों के लिए नयापन है जो प्रभावित करता है। रश्मि वडवाल की लघुकथाएं, बी.पी. दुबे की ग़ज़ल एवं अनिल कांत की कहानियां भी पठनीय हैं व प्रभावित करती है। पत्रिका की अन्य रचनाएं, समाचार व प्रस्तुत सामग्री भी अच्छी बन पड़ी है।

1 comment: