Wednesday, February 24, 2010

नाटको के लिए अनोखा ‘रंग अभियान’

पत्रिका: रंग अभियान, अंक: 16-17, स्वरूप: अनियतकालीन, संपादक: अनिल पतंग, पृष्ठ: 112, मूल्य: 25(उपलब्ध नहीं), वेबसाईट: उपलब्ध नहीं, फोन/मो.ः 09430416408, सम्पर्क: नाट्य विद्यालय, वाद्या, पो. एस. नगर, बेंगूसराय(बिहार)
पत्रिका नाट्य विधा पर एकाग्र सामग्री का प्रकाशन करती है। प्रकाशित रचनाओं का स्तर उत्कृष्ट है। प्रकाशित रचनाओं में बिहार राज्य के मूल नाट्य स्वरूप(प्रो. नरनारायण राव), नटरंग विवेक: राय की राय(ब्रजरतन जोशी), डाॅ. राय: नाट्य समीक्षक(डाॅ. सुरेश चंद्र शुक्ल चंद्र), हिंदी नुक्कड़ नाटक का विकास एवं संभावनाएं(प्रो. कृष्णनंदन सिंह) सहेज कर रखने योग्य रचनाएं हैं। इन रचनाओं को नाट्य शास्त्र में शोध कर रहे विद्यार्थियों को अवश्य पढ़ना चाहिए। प्रकाशित नाटकों में नाटक अनाटक(डाॅ. श्याम संुदर घोष) एवं विजय जुलूस(महेन्द्र नारायण पंकज, ना. रू. नूतन आनंद) पाठक की चेतना आंदोलित करते दिखाई देते हैं। पत्रिका की अन्य समीक्षाएं व साहित्यिक समाचार भी इसे नाट्य शास्त्र की अग्रणी पत्रिका बनाते हैं।

1 comment:

  1. बधाई जी इस सुंदर जानकारी के लिये

    ReplyDelete