Sunday, November 8, 2009

विविधतापूर्ण साहित्य की पत्रिका-हिमप्रस्थ

पत्रिका-हिमप्रस्थ, अंक-सितम्बर.09, स्वरूप-मासिक, संपादक-रणजीत सिंह राणा, पृष्ठ-56, मूल्य-5(वार्षिक 50रू.), सम्पर्क-हिमाचल प्रदेश प्रिटिंग प्रेस परिसर, घोड़ा चैकी, शिमला.5, हिमाचल प्रदेश(भारत),
साहित्य की सभी विधाओं के लिए समर्पित इस पत्रिका में उपयोगी जानकारी युक्त आलेखों का प्रकाशन किया गया है। लेखकों में प्रमुख हैं- जगदीश शर्मा, दिनेश कुमार नेगी, जया चैहान, किशोरी लाल शर्मा, हंसा ठाकुर एवं भवानी सिंह। डी. आर. भण्डारी की कहानी प्रायश्चित एक अच्छी व पठनीय कहानी है। ईश्वरचंदर कीे लघुकथा बोनस(अनुवाद5हंूदराज बलवाणी) भी उल्लेखनीय है। कविताओं में हेमचन्द्र सकलानी, एल. आर. शर्मा, दादूराम शर्मा की रचना को पाठक अवश्य ही पसंद करेंगे। इसके अतिरिक्त अन्य रचनाएं व समीक्षा, पत्र आदि भी इस पत्रिका को पाठकांे के अध्ययन के लिए उपयोगी बनाते हैं।

2 comments:

  1. बहुत सुंदर ओर उप्योगी जानकरी लाते है आप.

    ReplyDelete
  2. इस देश में सैकड़ों-हज़ारों की संख्या में सरकारी पत्रिकायें निकलती हैं जो सैकड़ों-हज़ारों लोगों को नौकरियां देती हैं और जिनमें सरकार का
    (जनता के टैक्स का) करोड़ों-अरबों रुपया और कुदरत के पेड़ों से बना हज़ारों टन कागज़ बर्बाद होता है। लेकिन हिमप्रस्थ जैसी सरकारी पत्रिकायें बहुत कम होंगी जिनको पढ़कर लगे कि वाकई आपने कुछ पढ़ा है।

    ReplyDelete