Sunday, August 16, 2009

साहित्य के हमेशा से शुभ रही पत्रिका--शुभ तारिका

पत्रिका-शुभ तारिका, अंक-जुलाई09, स्वरूप-मासिक, संपादक-श्रीमती उर्मि कृष्ण, पृष्ठ-34, मूल्य-रू.12 (वार्षिक रू.120), संपर्क-कृष्णदीप, ए-47, शास्त्री कालोनी अम्बाला छावनी, हरियाणा(भारत)
पत्रिका का समीक्षित अंक स्व. श्री विष्णु प्रभाकर जी के साहित्य पर एकाग्र है। पत्रिका में उन पर प्रबोध कुमार गोविल, यश खन्ना ‘नीर’, आनंद प्रकाश आर्टिस्ट तथा अशेष ने विस्तारपूर्वक आलेख लिखे हैं। पत्रिका की अन्य रचनाओं में अरूण जैन, सुखचैन भंडारी, अजय जैन की लघुकथाएं अच्छी हैं। रचना निगम, विनय मिश्र तथा पंकज शर्मा की कविताएं आज के संदर्भ को विश्लेषणात्मक ढंग से प्रस्तुत करती हैं। पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ, समाचार, समाचार तथा समीक्षाएं पूर्व अंकों की तरह आकर्षक व प्रभावशाली हैं।

2 comments:

  1. शुभ तारिका बेशक बढ़िया पत्रिका होगी। लेकिन इनके यहां पत्रिका डाक से भेजने की व्यवस्था बड़ी लचर है। साल में आधे अंक मिलते नहीं। खत लिखो तो बड़ा अजीब सा जवाब मिलता है आप अपने पोस्ट ऑफिस से पता कीजिये।

    ReplyDelete
  2. बहुत पुरानी पत्रिका है। पैंतीस वर्ष पहले इसे मैं मंगाता था। लेकिन बहुत दिनों से देखी नहीं है।

    ReplyDelete