Sunday, June 28, 2009

पत्रिका का लघुकथा अंक सार्थक प्रस्तुति है

पत्रिका-साहित्य सागर, अंक-जून.09, स्वरूप-मासिक, संपादक-कमलकांत सक्सेना, पृष्ठ-52, मूल्य-20रू.(वार्षिक 250रू.) संपर्क-161, बी, शिक्षक कांग्रेस नगर, बाग मुगलिया, भोपाल 462043 म.प्र.(भारत)
साहित्य सागर का समीक्षित अंक लघुकथा अंक के रूप में प्रकाशित किया गया है। अंक में सनातन कुमार वाजपेयी तथा डाॅ. शरद नारायण खरे ने लघुकथा की विषय वस्तु व बुुनावट पर विस्तृत रूप से विचार किया है। प्रकाशित लघुकथाओं में शरद नारायण खरे, युगेश शर्मा, रेखा कक्कड़, लता अग्रवाल, डाॅ. मालती शर्मा तथा मदन प्रसाद सक्सेना की रचनाएं प्रभावित करती हैं। पं. गिरि मोहन गुरू पर एकाग्र सामग्री से उनकी साहित्य के प्रति निष्ठा का पता चलता है। अन्य स्थायी स्तंभ तथा रचनाएं भी पठनीय तथा जानकारीप्रद हैं।

1 comment:

  1. साहित्य-सागर का पुराना पाठक रह चुका हूँ।

    ReplyDelete