Thursday, March 26, 2009

शुभ तारिका------साहित्य के लिए शुभ

पत्रिका-शुभ तारिका, अंक-मार्च।09, स्वरूप-मासिक, संपादक-श्रीमती उर्मि कृष्ण, पृष्ठ-30, मूल्य-12रू.(वार्षिक 120रू.), संपर्क- कृष्ण दीप, ए-4, शास्त्री कालोनी, अम्बाला छावनी, 133.001 हरियाणा (भारत)
शुभ तारिका का समीक्षित अंक होली विशेषांक के रूप में आया है। इस अंक में व्यंग्य विनोद से परिपूर्ण रचनाओं का समावेश किया गया है। पत्रिका में प्रमीला गुप्ता, अजातशत्रु, अखिलेश शुक्ल, प्रो. शामलाल कौशल तथा अब्बास खान के व्यंग्य प्रकाशित किए गए हैं। प्रत्येक व्यंग्य अलग अलग पृष्टभूमि पर लिखा गया है जिसमे हास्य का पुट भी प्रमुखता से मिलता है। लघुकथाओं में प्रबोध कुमार गोविल, नरेन्द्र कोर छाबड़ा, विजय शर्मा, बालाजी तिवारी, डाॅ. पूरन सिंह, नरेन्द्र कुमार गौड़ की लघुकथाएं पत्रिका के होली अंक की उपयोगिता बढ़ाती है। लक्ष्मीनारायण शर्मा, डाॅ. गार्गीशंकर मिश्र, डाॅ. रूखसाना सिद्धिकी, राजेश्वर उनियाल तथा डाॅ. रचना निगम की कविताएं वसंत की उजास को और भी उजला बना देती है। डाॅ. महाराज कृष्ण जैन की बाल कथा तथा पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ तथा पत्र-पत्रिकाएं साहित्यिक समाचार नई नई जानकारी प्रदान करते हैं। पत्रिका की संपादक श्रीमती उर्मि कृष्ण का स्त्री विषयक दृष्टिकोण शुभ तारिका का प्रमुख आकर्षण है।

3 comments:

  1. तारिका बेशक बढ़िया पत्रिका है। लेकिन सालाना चदा देने पर भी इसके 7-8 अंक ही मिल पाते हैं। पता नहीं ये गड़बड़ कहां होती है, डिस्पैच में या डाक में।

    ReplyDelete
  2. लघु पत्रिकाओं में शुभ तारिका तो अग्रणी मानी जाएगी। श्रीमती उर्मी कृष्ण के सम्पादकीय बहुत ही सटीक और मन को छूने वाले होते हैं, साथ ही इसकी लघुकथाएं रोचक व पठनीय होती हैं।

    ReplyDelete