Saturday, March 14, 2009

मैसूर हिंदी प्रचार परिषद पत्रिका----कर्नाटक का साहित्यिक प्रेम

पत्रिका-मैसूर हिंदी प्रचार परिषद पत्रिका, अंक-फरवरी.09, स्वरूप-मासिक, प्रधान संपादक-डाॅ. वि. रामसंजीवैया, पृष्ठ-48मूल्य-5रू.,(वार्षिक50रू), संपर्क-58, वेस्ट आॅफ कार्ड़ रोड़, राजाजी नगर बंेगलूर 560.010 कर्नाटक (भारत)
पत्रिका का समीक्षित अंक पठ्नीय रचनाओं से युक्त है। अंक में बदलते वैश्विक परिवेश में हिंदी की भूमिका और स्वैक्षिक संस्थाएं’ विषय पर एक परिचर्चा का आयोजन किया गया है। पहले आलेख में डाॅ. राकेश कुमार शर्मा ने हिंदी की स्थिति पर सरकारी एवं संस्थागत सहयोग के के दृष्टिकोण से विचार किया है। वर्तमान परिवेश में यथार्थवादी दृष्टिकोण अपनाए जाने पर समाज पर उसके प्रभाव का विशेष अध्ययन इस आलेख में पढ़ने में आता है। प्रो. ललिताम्बा ने हिंदी की विभिन्न बोलियों तथा उपबोलियों के विकास को हिंदी का विकास माना है। जिसमें इसे विज्ञान की भाषा बनाना भी शामिल है। स्वैक्षिक संस्थाएं तथा मीडिया इस कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है। प्रो. एम. ज्ञानम इसकी व्याख्या नए व पुराने के संदर्भ में करते हुए इसे सांस्कृतिक संरक्षण व अस्मिता की भाषा मानते हैं। विश्व में हिंदी व उसका विकास क्रम तथा वर्तमान स्थिति पर डाॅ. टी. जी. प्रभाकर का दृष्टिकोण व्यापक है। डाॅ. एम विमला बदलतेे परिवेश में हिंदी के महत्व को स्वीकार करते हुए इसे सूचना प्रोद्योगिकी की मानक भाषा बनाने पर बल देेती हैं। एच.बी. रामचंद्रन राव हिंदी के विकास में अनुवाद के क्षेत्र को ्रप्राथमिकता देते हैं। वरिष्ठ कवि विष्णु खरे पर डाॅ. एम. शेषन तथा सत्यम वारोट ने आलेख लिखे हैं। इन आलेखों में श्री विष्णु खरे की काव्यगत विशेषताओं पर गंभीरतापूर्वक विचार किया गया है। होलिका उत्सव पर सतीश उपाध्याय तथा पं भीमसेन जोशी जी की संगीत यात्रा पर श्री कृष्ण जी जोशी(अनुवाद श्रीमती सुधा गुडगुडी) ने सुंदर विश्लेषण प्रस्तुत किया है। डाॅ. बी. जी. पटैल ‘अंधा युग में युगीन संदर्भ’ ढूंढते हुए इसे आधुनिक सभ्यता तथा मानवता के लिए महाकाव्य निरूपित करते हैं। पत्रिका में हितेश कुमार शर्मा, डाॅ. दिनेश चमोला, राजेश कुमार सिंह, अखिलेश शुक्ल, मित्रेश कुमार गुप्त की कविताएं-लघुकथाएं भी आज की स्थिति का यथार्थवादी चित्रण है। पत्रिका के अन्य स्थायी स्तंभ इसे आकर्षक व पठ्नीय बनाते हैं।

1 comment:

  1. बहुत लिखा है और मेरे ब्लॉग पर आ कर टिप्पणी करके हौसला बढ़ाने ले लिए धन्यवाद !

    ReplyDelete