Friday, March 6, 2009

शुभ तारिका----साहित्य के लिए शुभ

पत्रिका-शुभ तारिका, अंक-फरवरी 2009, स्वरूप-मासिक, संपादक-श्रीमती उर्मि कृष्ण, पृष्ठ-38, मूल्य-12रू.,(वार्षिक120रू), संपर्क-कृष्णदीप, ए-47, शास्त्री कालोनी, अम्बाला छावनी, 133.001 हरियाणा (भारत)
शुभ तारिका का समीक्षित अंक वसंत अंक है। अंक में सार्थक तथा उददेश्यपूर्ण लघुकथाएं शामिल हैं जिनमें अरूण कुमार जैन, अलका मित्तल, चेतन आर्य तथा सुनील कुमार चैहान प्रभावित करते हैं। कृष्ण शलभ, वीरेन्द्र गोयल, देवेन्द्र कुमार मिश्रा तथा रमेश प्रसून की कविताएं वसंती रंगों की आभा लिए हुए हैं। आलोक भारती जी से परिचय पाकर सुखद लगा। उनके व्यक्तित्व तथा कृत्तित्व को समेटता हुआ परिशिष्ट पत्रिका को उत्कृष्ट बनाता है। नई कहानी(डाॅ. महाराज कृष्ण जैन) तथा विज्ञान पत्रकारिता(अनिल कुमार) आलेख नई कहानी तथा विज्ञान पत्रकारिता पर गंभीरता से विचार करते हैं। सुखदेव सिंह भंड़ारी की कहानी ‘पूरा आदमी’ व्यक्ति के रिक्त ह्दय में झंकार उत्पन्न करती है। वह झंकार जो मनुष्य को अचेतन से चेतन की ओर ले जाती है। अन्य स्थायी स्तंभ, समीक्षाएं आदि भी रोचक हैं। अच्छे सार्थक अंक के लिए बधाई।

No comments:

Post a Comment